मुकन्दलाल नैशनल कॉलेज में मनाया गया अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस

मुकन्द लाल नैशनल कॉलेज के प्रांगण में चौथे अर्तराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योगा इन्स्ट्रक्टर तेजपाल सिंह एवं छात्रा निध् िने डेमोंस्ट्रेशन के माध्यम से योगाभ्यास कराया। इस कार्यक्रम में कॉलेज की एन0एस0एस0 यूनिटस, खेल विभाग के विद्यार्थियों, कॉलेज के स्टापफ के सदस्यों ने भाग लिया। कॉलेज प्राचार्य डॉ0 शैलेश कपूर ने अपने सन्देश में कहा योग शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ परिवार, समाज, देश, विश्व एवं पूर्ण मानवता को जोड़ता है। योग से व्यक्ति जहां दिन भर ऊर्जावान रहता है वहीं तानवमुक्त भी रहता है। तनावमुक्त व्यक्ति ही समाज व संस्थान को आगे ले जा सकता है। योग के समपान अवसर पर आये हुये बच्चों व स्टापफ मैम्बर को पफल वितरित किये गये।

‘अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस’ का अयोजन पहली बार 21 जून 2015 में किया गया जिसमें यह घोषणा की गई कि यह दिवस हर वर्ष 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में मनाया जायेगा और इस प्रस्ताव को लगभग 170 से अध्कि देशों ने अर्तंराष्ट्रीय योग दिवस के प्रस्ताव का समर्थन किया था। इसके लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष ने प्रधनमंत्राी नरेंन्द्र मोदी को बधई दी और 21 जून को हर साल अंतराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया।
योग की शुरूआत भारत में पूर्व-वैदिक काल में हुई मानी जाती है। योग हजारों साल से भारतीयों की जीवन-शैली का हिस्सा रहा है। ये भारत की ध्रोहर है। योग में पूरी मानव जाति को एकजुट करने की शक्ति है। यह ज्ञान, कर्म और भक्ति का आदर्श मिश्रण है।
डॉ0 मनोहर गोयल ने योग करने से होने वाले लाभों के बारे में भी अवगत कराया जो इस प्रकार से हैं- योगासनों से पेट की भली-भांति सुचारू रूप से सपफाई होती है और पांचन अंग पुष्ट होते हैं। पाचन-संस्थान में गड़बडि़यां उत्पन्न नहीं होती। इससे मोटापा घटता है और दुर्बल-पतला व्यक्ति तंदरूस्त होता है। योगासनों से बु(ि की वृ(ि होती है और नई स्पफूर्ति एवं ताजगी मिलती है।
शारीरिक शिक्षा विभाग के अध्यक्ष डॉ0 मोहिन्द्र सिंह ने कहा कि योग हर उम्र के व्यक्ति कर सकते है ध्यान इस बात का रखना होता है कि योग करते वक्त मैट बिछना जरूरी है वहीं यदि कोई व्यक्ति किसी बिमारी से ग्रस्ति है तो उसे विशेषज्ञ को बता देना चाहिए ताकि वह उसे से सम्बन्ध्ति योग कर सके।
इस अवसर पर एन0एस0एस0 अध्किारी डॉ0 भावना सेठी, डॉ0 महेश कुमार, गुरमीत सिंह पुस्तकालयाध्यक्ष अन्जु नागपाल, राम प्रताप, कृपाल सिंह, अंजु कपूर, पंकज कुमार, सीता देवी, सरनाम सिंह, भारतभूषण, यू0डी0 शर्मा, आशाराम, सतनारायण, सोनू, अजीत सिंह आदि ने इस कार्यक्रम में भाग लिया और योगाभ्यास किया।