मुकन्द लाल नैशनल कॉलेज में हुआ बीनू राजपूत निर्देशित लघु पिफल्म ‘वाल ऑपफ वैलर-ए ट्रिब्यूट टू माटर्स’ का पिफल्मांकन

मुकन्द लाल नैशनल कॉलेज के सभागार में अमर शहीद रॉकी के जीवन पर आधरित ‘वीरता की दीवारः शहीदों को श्र(ांजलि’ विषय पर एक वृत्तचित्रा का पिफल्मांकन किया गया, जिसमें यह दिखाया गया कि किस प्रकार एक भारतीय सैनिक दुश्मनों से लड़ते हुए अपना जीवन देश पर कुर्बान कर देता है। इस पिफल्म का निर्देशन जानी मानी पिफल्म निर्देशिका बीनू राजपूत द्वारा किया गया। अमर शहीद रॉकी की दूसरी पुण्यतिथि पर इस लघु पिफल्म की स्पैशल स्क्रिनिंग के अवसर पर कॉलेज के लगभग 200 से अध्कि विद्यार्थी, प्रशासनिक अध्किारी, कॉलेज स्टापफ तथा रॉकी के परिवार के सभी सदस्य उपस्थित हुये। इस अवसर पर बीएसएपफ के 20 जवान भी शामिल हुये। यह लघु पिफल्म देश की सेन्ट्रल आर्म्ड पुलिस पफोर्सिस और स्टेट पुलिस पफोर्सिस की कार्यप्रणाली और डयूटी पर रहते हुये शहीदों की बहादुरी की शौर्यगाथा पर आधरित है।
इस अवसर पर नई दिल्ली से विशेष रुप से आमंत्रित भारत सरकार के गृह मंत्रालय के उत्तर- पूर्व राज्यों के सलाहकार महेश कुमार सिंगला ;आई0पी0एस0द्ध बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुये। उन्होनें बताया कि किस प्रकार हमारे जवान सीमा पर दुश्मनों से लड़ते हुऐ वीर गति को प्राप्त हो जाते हैं। उन्होनें उन सभी वीर सैनिकों को नमन किया। कार्यक्रम अध्यक्ष के रूप में बीएसएपफ मुख्यालय के डीआईजी मो0 बिलाल खान रहे, जिन्होनें अमर शहीद रॉकी का पूरा वृतान्त बताया कि किस प्रकार उसने स्वयं की परवाह न करते हुए अपने सभी साथियों की जान बचाई और देश पर कुर्बान हो गया।
विशिष्ठ अतिथि के रूप में कमांडेंट विजय कुमार रहे। साथ ही नई दिल्ली स्थित पी0पी0सी0टी0 के चैयरमेन अशोक कुमार तनेजा विशेष रूप से उपस्थित हुये।
कॉलेज के कार्यकारी प्राचार्य डॉ0 अजय शर्मा और कॉलेज प्रबन्ध्क समिति के महासचिव डॉ0 रमेश कुमार ने आये हुये अतिथियों का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। इस अवसर पर कॉलेज की ओर से आये हुये सभी मुख्य अतिथियों को शॉल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया, साथ ही कॉलेज की अमर शहीद रॉकी के परिवार को भी स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया किया। कॉलेज प्रबन्ध्क समिति के महासचिव ने बताते हुए कहा कि हमारी सस्थायें हमेशा ही शहीदों के परिवारों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देती आई हैं और आगे भी प्रतिब( है।